पंजाब सरकार में मंत्री और कांग्रेस लीडर नवजोत सिंह सिद्धू आजकल अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियां बटोर रहे हैं. नवजोत सिंह सिद्धू अपनी बुलंद आवाज़ के लिए जाने जाते हैं. वह अपनी बात इस तरह से रखते हैं कि लोगों को उन पर यकीन हो जाता है. लेकिन इसी बीच एक ऐसी खबर आई है जिसे सुनकर सिद्धू के फैंस दुखी हो सकते हैं. दरअसल, डॉक्टरों ने बताया है कि नवजोत सिंह सिद्धू की आवाज़ हमेशा के लिए जा सकती है अगर उन्होंने लापरवाही बरती तो. बता दें, इन दिनों वह पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के लिए जोरो-शोरों से प्रचार करते-करते अपनी आवाज़ खोने के कगार पर पहुंच गए हैं. डॉक्टरों ने फिलहाल उन्हें 5 दिन कम्पलीट रेस्ट की सलाह दी है और इसमें थोड़ी भी लापरवाही उनकी आवाज़ के लिए खतरा साबित हो सकता है. अगर सिद्धू लापरवाही बरतते हैं तो वह अपनी आवाज़ हमेशा के लिए खो सकते हैं.

क्या हुआ है सिद्धू को?

बता दें, चुनाव प्रचार के चलते सिद्धू ने 17 दिन में 70 रैलियां की और लगातार भाषण देने की वजह से उनके वोकल कॉर्ड्स को काफी नुकसान पहुंचा है. उन्हें लैरींगाइटिस नाम की एक बीमारी हो गयी है. इस बीमारी में व्यक्ति के वोकल कॉर्ड्स को क्षति पहुंचती है. जब गले में तकलीफ होने पर सिद्धू ने मेडिकल हेल्प लिया तो डॉक्टरों ने उन्हें बताया कि मामला बहुत सीरियस है. वह सही टाइम पर चेकअप के लिए आ गए वर्ना उनकी आवाज़ जा भी सकती थी. फिलहाल डॉक्टरों ने उन्हें पूरी तरह से 3 से 5 दिन तक बेड रेस्ट करने को कहा है और इन दिनों में उन्हें बोलने से भी सख्त मना किया गया है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो हेलीकाप्टर और फ्लाइट में सफर करने की वजह से भी उनके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ा है.

क्यों होती है ये बीमारी?

डॉक्टरों ने बताया कि जब शरीर उत्साह से भरा होता है और शरीर और दिमाग लगातार तेज बोलने के लिए प्रेरित करता है पर गला साथ नहीं देता तो इसे लैरींगाइटिस कहते हैं. इसका मतलब आप शरीर और दिमाग से तो नहीं थकते लेकिन आपका गला थक जाता है. इसके कुछ प्रमुख लक्षण होते हैं जिसे पहचान लेने पर इलाज जल्द शुरू किया जा सकता है वर्ना इलाज में देरी से आपकी आवाज़ भी जा सकती है